Viral News

बैंक खाते से पैसा कट जाने पर एप्लिकेशन Bank Account Se Paise Kat Jane Par Application 2022

Rate this post

Bank Account Se Paise Kat Jane Par Application

बैंक खाते से पैसा कट जाने पर एप्लिकेशन, application for money deducted from your account, लेन-देन में विफल रहा है लेकिन पैसा खाते से काट लिया application, बैंक अकाउंट से पैसे कटने पर एप्लीकेशन in English, मेरे अकाउंट से पैसे कट गए हैं, फोन पर से पैसा कट जाए तो क्या करना चाहिए

बैंक खाता इन दिनों एक आवश्यक आवश्यकता है। कई बार ऐसा होता है कि जब आप किसी बैंक में खाता खुलवाते हैं तो बैंक आपकी अनुमति से कुछ अतिरिक्त सेवाएं इसमें जोड़ देता है। जैसे कि इंश्योरेंस अथवा म्युचुअल फंड की कोई एसआईपी आदि। ऐसे में आपके खाते से कुछ अतिरिक्त राशि कट जाती है।
कई बार ऐसा होता है कि गलती से भी आपके एकाउंट से पैसे कट जाते हैं। यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है और आप नहीं जानते कि इसके लिए बैंक को प्रार्थना पत्र कैसे लिखना है तो चिंता मत करिए। हम आपको बताएंगे कि आप अपने बैंक खाते से पैसा कट जाने पर आवेदन कैसे लिख सकते हैं-

बैंक खाताधारकों की कई बार यह शिकायत होती है कि उन्होंने कोई लेन देन नहीं किया, इसके बावजूद उनके एकाउंट से पैसे कट गए। उन्हें केवल अपने मोबाइल फोन पर आए मैसेज से यह पता चलता है कि उनके खाते से पैसा डेबिट हुआ है।
संभव है कि आपके साथ भी ऐसा हुआ हो। जाता है कि को यह ऐसी कई वजहें हैं, जिनकी वजह से किसी बैंक खाताधारक के खाते से पैसा कट जाता है। ये कारण इस प्रकार हैं-
इसके कई तरीके हैं। आप एटीएम जाकर एटीएम कार्ड (ATM card) का इस्तेमाल कर अपना बैंक एकाउंट स्टेटमेंट (Bank account statement) निकाल सकते हैं। इसके अतिरिक्त मान लीजिए आपके पास आपकी सैलरी बैंक में आने का नोटिफिकेशन मैसेज (notification message) आता है और किसी महीने उतनी सैलरी नहीं आई, जितनी आती है तो सीधा सा अर्थ है कि आपकी सैलरी से पैसा कट गया है।

बैंक खाते से पैसा कट जाने पर एप्लिकेशन

आप अपने बैंक जाकर कटी राशि के कारण का पता लगा सकते हैं। इसके अतिरिक्त जब आप अपनी पासबुक अपडेट (passbook update) कराने जाते हैं तो सारा ब्योरा पासबुक में प्रिंट होकर आ जाता है।
यहां से भी आपको पता लग जाता है कि आपका पैसा कट गया है। आप चाहें तो आनलाइन बैंकिंग (online banking) के जरिए भी यह जान सकत हैं कि आपके एकाउंट (account) से कितना पैसा डिडक्ट (deduct) हुआ है और क्यों।
बहुत से लोग अपने खाते से अतिरिक्त पैसा कट जाने पर बैंक को प्रार्थना पत्र (application) लिखना चाहते हैं लेकिन उसका तरीका नहीं जानते। ऐसे लोगों के लिए हम प्रार्थना पत्र का नमूना (sample) पेश कर रहे हैं, जो इस कुछ यूं है-

सेवा में
बैंक मैनेजर
….बैंक शाखा का नाम
…बैंक का पता लिखें
विषय: खाते से पैसा कट जाने के संबंध में प्रार्थना पत्र।
महोदय,
निवेदन यह है कि प्रार्थी (अपना नाम लिखें) का आपकी बैंक शाखा में खाता (खाता संख्या लिखें) है। मेरे खाते से प्रत्येक माह काटी जाने वाली राशि लिखें रूपये काटे जा रहे हैं। कृपया बताने का कष्ट करें कि ऐसा क्यों हो रहा है और उसे तत्काल बंद करने की कृपा करें।
धन्यवाद।
तिथि प्रार्थी अपना नाम लिखें
अपना पूरा पता लिखें
अपनी बैंक खाता संख्या लिखें
अपना मोबाइल नंबर लिखें
अपने हस्ताक्षर करें
यदि खाताधारक ने अपने बैंक खाते से पैसा कटने का आवेदन लिख लिया है तो इसके पश्चात उसे इसे लेकर संबंधित बैंक शाखा में संपर्क करना होगा। वहां इस प्रार्थना पत्र को जमा करना होगा। साथ ही इसका कोई दस्तावेज जैसे एकाउंट स्टेटमेंट, पासबुक आदि का प्रिंट आदि नत्थी करना होगा।
यदि किसी अतिरिक्त सेवा के लिए यह अतिरिक्त राशि काटी गई है तो बैंक की ओर से आपको अवगत करा दिया जाएगा। आप इन सेवाओं का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो इन्हें बंद करा सकते हैं।
इस प्रकार आपकी जो अतिरिक्त राशि काटी जा रही है, वो कटनी बंद हो जाएगी। यदि गलती से आपके खाते से पैसा कट गया है तो बैंक की ओर से उसे आपके खाते में डाल दिया जाएगा।
बहुत से खाताधारकों के मन में यह प्रश्न भी उठता है कि क्या वह आनलाइन माध्यम से भी खाते से पैसा काटे जाने की शिकायत संभव है? तो जवाब है कि निश्चित रूप से संबंधित बैंक की वेबसाइट के जरिए आनलाइन शिकायत (online complaint) की जा सकती है।
मान लीजिए कि आप देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया (state bank of india) अर्थात एसबीआई (SBI) के ग्राहक हैं और आपके खाते से पैसा कट गया है तो आप इस प्रकार शिकायत कर सकते हैं-

यदि आप बैंक के जवाब से संतुष्ट नहीं हैं तो आप आगे निर्धारित कार्रवाई कर सकते हैं। इसमें शिकायत के कई चरण )steps) निर्धारित हैं, जिनमें बैंकिंग लोकपाल (banking ombudsman) भी शामिल है।

यदि आपने खाते से पैसा कटने के संबंध में बैंक में प्रार्थना पत्र दे दिया है तो बैंक उस पर सप्ताह भर के भीतर कार्रवाई कर देता है। यदि इस समय के भीतर भी आपके आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं होती तो एक बार फिर बैंक जाकर समस्या का पता कर सकते हैं कि निर्धारित अवधि में क्यों कुछ नहीं किया गया। यदि इस पर भी कार्रवाई नहीं होती तो बैंकिंग लोकपाल जैसे रास्ते भी अपनाए जा सकते हैं।

बहुत से चार्जेज के कट जाने का खाताधारक को पता भी नहीं चलता। जैसे बैंक द्वारा एटीएम अर्थात डेबिट कार्ड (debit card) के लिए प्रत्येक वर्ष सालाना आधार पर काटी जाने वाली राशि। यदि देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई अर्थात स्टेट बैंक आफ इंडिया की बात करें तो वह प्रति वर्ष 147.50 रूपये एटीएम चार्जेज के बतौर काट लेता है।
यह राशि किसी को पता भी नहीं चलती और बहुत छोटा अमाउंट होने की वजह से कोई इस पर बहुत गौर भी नहीं करता। इसी प्रकार बहुत से बैंक करते हैं और प्रत्येक की राशि उनके द्वारा निर्धारित नियम कानूनों के अनुसार अलग अलग होती है। अधिकांशतः ग्राहक का ध्यान अपने खाते से बड़ी राशि कटने पर जाता है।

जिसके बाद वह जानने के लिए हाथ पैर मारता है कि ऐसा क्यों हुआ। अमूमन प्रत्येक व्यक्ति को, जो भी एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करता है, अपने खाते में हुए लेन-देन का मिनी स्टेटमेंट ले ही लेना चाहिए, ताकि उसकी अपने खाते से कटने वाली राशि पर नजर रहे।
इन दिनों तमाम बैंक शाखाएं कंप्यूटराइज्ड हैं एवं सीबीएस से जुड़ी हैं। लेकिन एक दौरा मैनुअल एकाउंट अपडेशन का भी था। किसी व्यक्ति के खाते से अतिरिक्त राशि कट जाने की गलती उस दौर में बहुत होती थी। कई बार एकाउंटेंट गलती से किसी और के खाते की राशि किसी और खाते में चढ़ा जाते थे।

शिकायत किए जाने के बाद ही यह बात पकड़ में आती थी। इसे ठीक करने में भी समय लगता था। लेकिन इन दिनों सारी फेसिलिटी आनलाइन होने के बाद गलती पकड़ा जाना भी बेहद आसान है और उसे सुधारा जाना भी।
अब न तो पहले की तरह एकाउंटेंट काउंटर पर लाइन लगती है और न ही किसी काम को कल पर टाले जाने की स्थिति ही पैदा होती है। ढेर सारी सुविधाएं बैंकों की ओर से अपने उपभोक्ताओं को घर बैठे ही मुहैया करा दी गई हैं, उन्हें बैंक तक आने की आवश्यकता तक नहीं होती।
ऐसा बहुधा बैंक द्वारा आपके खाते पर दी जा रही अतिरिक्त सेवा के लिए किया जाता है। जैसे इंश्योरेंस अथवा म्युचुअल फंड के सिप आदि के लिए।
इसका नमूना हमने आपको ऊपर पोस्ट में दिखाया है। आप वहां से सहायता ले सकते हैं।
खाते से पैसा कट जाने की स्थिति में प्रार्थना पत्र देने पर बैंक अमूमन सप्ताह भर के भीतर उस पर कार्रवाई कर देता है।
उसे जाकर बैंक मैनेजर से मिलना चाहिए एवं अपनी यह समस्या बतानी चाहिए।
आप चाहें तो अपने एटीएम कार्ड का इस्तेमाल कर बैंक स्टेटमेंट निकाल सकते हैं। अथवा आपको बैंक की ओर से आने वाले मैसेज नोटिफिकेशन से इस संबंध में पता चल जाता है।
इस पोस्ट में हमने आपको बैंक खाते से पैसा कट जाने पर प्रार्थना पत्र लिखने के संबंध में जानकारी दी। उम्मीद करते हैं कि इस जानकारी का प्रयोग कर अन्य लोगों की भी सहायता कर सकते हैं। यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है तो इसे अपने मित्रों, परिचितों के साथ भी शेयर अवश्य करें। शुक्रिया।
———————

दोस्तों, साईट पर उपलब्ध सभी जानकारी विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट, खबरों की वेबसाइट और न्यूज़ पेपर द्वारा ली जाती हैं। कोई भी जानकारी का उपयोग करने से पहले विभाग की ऑफिसियल साईट जरुर चेक करें। अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लीक करें। 
दोस्तों, इस वेबसाइट के सभी लेख Copyrighted.com और DMCA कॉपीराइट प्रोटेक्टेड हैं। इसलिए इस वेबसाइट के कंटेंट कॉपी या किसी भी रूप में किसी भी सामग्री का उपयोग करना एक गंभीर अपराध है, और ऐसा करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस वेबसाइट के किसी भी चित्र को अपने वेबसाइट पर उपयोग करने से पूर्व, हमारे Contact Us पृष्ठ से संपर्क करें। धन्यवाद।

source

READ  गोविंदा की भांजी आरती सिंह ने मालदीव में दिए ये हॉ'ट पोज, इंटरनेट का पारा बढ़ा - Akashera

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button