ब्रेकिंग न्यूज़Cryptocurrency

5G नेटवर्क क्या है | लाभ | स्पीड क्या होगी | 5G Technology In HINDI

Rate this post

5G Technology Kya Hai? 5 g टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है? 4G के मुकाबले 5G कैसे बेहतर है? 5g टेक्नोलॉजी 5वीं पीढ़ी की टेक्नोलॉजी है,जो आज के 4g LTE नेटवर्क की नया version है | 5g टेक्नोलॉजी आज के इंटरनेट डाटा और connectivity में बहुत बड़ी ब्रुधी और विकाश के रास्ते को आसन करने के लिए 5g टेक्नोलॉजी का design किया गेया है | 5 g technology के सभी बिषय पर आज हम इस लेख में बिस्तार रूप से चर्चा करेंगे |

कुछ साल पहले मोबाइल फ़ोन आम आदमी के लिए एक सपना जैसा था,मोबाइल फ़ोन अमीर लोगों का एक status के symbol के तोर पर बन गेया था | मोबाइल फ़ोन जो कभी आम आदमी के लिए केवल एक सपना था,टेक्नोलॉजी क्षेत्र में बहुत बड़ी क्रांती के कारण आज उनके हाथों पर एक से बड कर एक smart phone नज़र आने लगा |

पहले wire से कनेक्ट हो कर चलने वाले फ़ोन था,फिर कार्डलेस फ़ोन का ज़माना आया | आज के समय पर टेक्नोलॉजी क्षेत्र में क्रांती के कारण Wireless phone का दौर चल राहा है | मोबाइल फ़ोन टेक्नोलॉजी क्षेत्र में G का मतलब Generation को माना जाता है |

मोबाइल क्षेत्र में 1g से लेकर 4 g का सफ़र इंडिया में हो चुका है,और आने वाले समय के लिए 5g के तेयारी में जुटा है | भारत सरकार ने टेलिकॉम कंपनियों को 5g trail के लिए अनुमति दे दी है | बहुत जल्द हम लोग इंडिया में 5g सर्विसेज का लाभ उठा सकेंगे |

टेक्नोलॉजी क्षेत्र में क्रांती के कारण आज के समय पर अधिकतर लोगों के पास smart phone सहीत 4g सर्विसेज उपलध रेहेता है | Reliance JIO 4g सेवा Promotional offers के साथ जब launch हुया तब से इंडिया में इंटरनेट का एक नया युग आरम्भ हो गेया |

JIO promotional offers के तहत 4g इंटरनेट आपनी उपभोक्ता के लिए कुछ महीने इंटरनेट सेवा बिलकुल मुक्त में दी, और लोगों को इंटरनेट के आदत लगा दी | JIO आने से पहले अन्य कंपनी इंटरनेट डाटा के नाम पर बहुत भारी भरकम चार्ज लेते थे | JIO आने से अन्य कंपनी मजबूरन आपनी आपनि इंटरनेट डाटा pack के दरें में कटोती कर ली |

आज के समय पर इंडिया में ज्यादातर लोगों के पास smart phone है ,और ज्यादातर कार्य को digitally करते है | इंडिया में कम से कम 60 से लेकर 70 प्रतिशत लोग इंटरनेट का उपयोग करते है | घर बैठ कर लोग ऑनलाइन शौपिंग करते है | घर में बैठ कर लोग ने ऑनलाइन से पैसे कमाते है | घर में बैठ कर बहुत आसानी से fund transfer करते है | इंटरनेट लोगों के जिन्दगी में बहुत बड़ा बदलाब ला चुका है | इंटरनेट का स्पीड आज के तारीक में लोगों के जिंदगी में बहुत ही बड़ा महत्व रखती है |

आखीर येह 5g Technology Kya Hai? 5g Technology कैसे काम करती है? 5 जी टेक्नोलॉजी क्या है? 5g network क्या है? इन सभी के बारे इस लेख में बिस्तार रूप से चर्चा करेंगे |

5G Technology Kya Hai?

5G इंटरनेट इंडिया में कब launch होगा?

5g Technology यानी की 5th generation का networks है ,5g टेक्नोलॉजी 4 g टेक्नोलॉजी का एक नया संस्करण है | 5g cellular सेवा की latest टेक्नोलॉजी है,इस पर इंटरनेट का स्पीड बहुत ही ज्यादा रहेगा,कम latency रहेगा और ज्यादा flexibility देखने को मिल सकता है |

नेटवर्क latency का मतलब जब आप आपनी मोबाइल से इंटरनेट पर कुछ खोज करते है,तो आप के मोबाइल और टारगेट सर्वर के बिच लगने बाले समय को latency कहा जाता है | 5g नेटवर्क में यह latency 1ms होने की अनुमान है,जिस से आप के मोबाइल से खोज गेया रिजल्ट बहुत ही कम समय पर उपलध हो जाएगा |

5G Technology Kya Hai

5G नेटवर्क से नेट का ज्यादा स्पीड,अल्ट्रा hd high quality की विडियो कालिंग साथ ही smart devices को हर बक्त स्ट्रोंग connectivity मिल सकेगी | 5 g cellular टेक्नोलॉजी के द्वारा क्लाउड से सीधे उपभोक्ता के साथ संजोग करेगा,जिस से इंटरनेट बहुत ज्यादा स्पीड रहेगा और connectivity हमेसा स्ट्रोंग रहेगा | 5g एक नए प्रोसेस के माध्यम से single डिजिटल सिंगल को अलग अलग channels के माध्यम रेगुलेट करेगा |

5G Network कैसे काम करता है?

5G नेटवर्क क्या है | लाभ | स्पीड क्या होगी | 5G Technology In Hindi
Pic Credit-Canva

5g नेटवर्क मूल रूप से 4 तरह के टेक्नोलॉजी से काम करता है | वायरलेस संचार प्रणाली रेडियो frequencies के माध्यम से डाटा को ले जाने के लिए उपयोग करती है | 4g LTE wireless टेक्नोलॉजी के signal सभी रेडियो वेव के माध्यम से प्राफ्त किये जाते है | इन signal को ट्रांसमिट करने के लिए बड़े बड़े मोबाइल टावर को लगाया जाता है,जिस से आसानी से signal बहुत आसानी से ट्रांसमिट हो सके |

5g wireless signals को ट्रांसमिट करने के लिए बहुत सारे छोटे छोटे small cell stations की जरुरत होती है | mmWave टेक्नोलॉजी spectrum में 30 से 300 GHz के बिज़ होती है | 5g नेटवर्क में high स्पीड पैदा करने के जरुरत होती है,जो केवल short distances में ट्रेवल कर सकती है,इसीलिए mmWave के antenna लगाने की जरुरत होती है | mmWave का ट्रेवल area बहुत सिमित रेहेता है,Macro नेटवर्क के द्वारा बहुत बड़ी area को coverage किया जाता है,जिस से उपयोगकर्ता की आवश्यकता के अनुसार स्थान पर कनेक्शन आसानी से मिल
सके |

5G Macro cells एक साथ बहुत सारे डाटा भेजने और डाटा प्राफ्त करने के लिए MIMO (multiple input,multiple output) का उपयोग किया जाता है | इसके द्वारा बहुत सारे उपयोगकर्ता एक साथ नेटवर्क में जुड़ सकते है,और इसमें समतारल हाई througput बनाया रेहेता है | नेटवर्क slicing से किसी विशेष व्यवसाय या फीर application के लिए नेटवर्क को बिभाजीत करने के लिए एक smart तरीके से कार्य करता है |

5G नेटवर्क 4 तरह से कार्य करता है

Non-standalone 5g(NSA-5G)
Standalone 5g(SA-5G)
Sub-6 GHz
mmWave
5g Non-standalone
Non-standalone नेटवर्क को 5g का basic band भी माना जाता है | किसी भी regions में जब 5g नेटवर्क के services को उपभोक्ता के लिए इसी band के आधार पर उपलध करवाया जाता है | 4g LTE के लिए पहले से ही उपलध इंफ्रास्ट्रक्चर का उपयोग कर के 5g नेटवर्क को deploy किया जाता है | जब किसी भी कंपनी किसी region में 5g के लिए टेस्टिंग करते है इसी spectrum का उपयोग करते है |

5g Standalone Kya hai

5g standalone पूरी तरह से virtualized क्लाउड नेटिव नेटवर्क है,जो सेवाओं को प्रबंधित करने की तरीके को पेश करता है |

Sub-6 GHz

इसे मिड band 5g spectrum भी काहा जाता है | इसकी frequency 6GHz से कम रेहेति है,और इसे low band टेली communication के लिए उपयौग किया जाता है | Sub-6 GHz frequency की सबसे बड़ी बात येह रेहेति है यह आसानी से किसी भी ठोस पदार्थ जैसे की घर बिल्डिंग, को पार कर आपनी connectivity को बरकरार रख पाती है| जिस से आप हर जगह इसकी connectivity बहुत आसानी से पा सकते है |

mmWave

इस में 24 GHz से भी ज्यादा frequency का उपयोग किया जाता है | इसे 5g नेटवर्क के high frequency कहा जाता है | mmWave में ज्यादा bandwidth मिलता है,और इस पर डाटा के स्पीड 1 Gbps तक रह सकती है | mmWave को coverage देने के लिए कोई छोटे और लोअर रेंज के cell phone का टावर का उपयोग किया जाता है,ताकि इसकी coverage को पूरा किया जा सके |

5G Technology के Features क्या है?

5g Technology बहुत सारे एसे features है जो चल राहा नेटवर्क technology में नहीं है |

5g टेक्नोलॉजी में 10Gbps डाटा रेट रेहेता है,4g और 4.5g नेटवर्क के तुलना में 10 से 100x रेट में network improvement होता है |
5g टेक्नोलॉजी में 1 milli secound का latency रेहेता है |
5g टेक्नोलॉजी में 1000x bandwidth per unit तक रेहेता है |
5g टेक्नोलॉजी में per unit area में एक साथ 100x number के devices एक साथ कनेक्ट कर सकते (यह आप 4g LTE के साथ तुलना करे तो ) है |
यह 99.999% हर बक्त उपलध रेहेता है |
5g टेक्नोलॉजी 100% coverage प्रदान करता है |
5g टेक्नोलॉजी energy save करने में बहुत बड़ी मदद करता है,येह 90% तक network energy usage कम करने में मदत करती है |
यह low power remote IoT devices को काफी सालों तक पॉवर प्रदान कर सकती है |
यह WAN connections को improve कर सकता है |
5g टेक्नोलॉजी में high increased peak bit-rate रेहेता है |

5G Vs 4G नेटवर्क क्या है?

इंटरनेट का स्पीड की बात करे तो 5g की स्पीड 4g से बहुत ज्यादा रहेगी | 4g नेटवर्क की स्पीड की बात करे तो peak में 1 Gbps रेहेति है, वहीँ 5g नेटवर्क के स्पीड की बात करे तो peak में 20 Gbps तक रेहेति है | 20 Gbps स्पीड पाने के लिए 5 g नेटवर्क स्पेक्ट्रम में low-band , medium band और हाई band का इस्तिमाल करेगा | 4g नेटवर्क के मुकाबले 5g नेटवर्क की कवरेज ज्यादा रहेगा |

4g के latency 20-30 ms के मुकाबले 5 g नेटवर्क की latency 1 ms रेहेता है | ट्रैफिक मामले देखा जाए तो 4 g नेटवर्क से 100 गुणा ज्यादा ट्रैफिक 5 g देता है |

Benifits of 5G Technology के फायदे

5g एक नए तरह के वायरलेस नेटवर्क है,5g आने से बहुत सारे बड़े बड़े बदलाव देखने को मिल सकती है | लोगों का जीवन सैली बहुत मात्र में बहुत कुछ बदल जाएगा | 5g आने से लोगों को बहुत सारे फायदे मिल सकती है |

4g के मुक्काबले 5g data speed बहुत ज्यादा रहेगा |
5g का peak स्पीड 20 Gbps यानी प्रती second 20 Gb होगी |
5g Technology नेटवर्क द्वारा latency बहुत कम यान की 1ms होगा |
5g Technology आने से healthcare sector,cloud gaming,artificial intelligence,वर्चुअल रियल्टी,driver less कार की संभाबना 5g टेक्नोलॉजी के माध्यम पूरी हो सकती है |
5g speed के कारण आप किसी प्रकार के content क्यों ना हो बेहतर download और upload रहे सकता हजी |
Previous generations टेक्नोलॉजी के साथ बेहतर ताल-मेल रख कर काम कर सकता है |
Education sector में विश्व के कोने कोने से स्टूडेंट बहुत आसानी से ज्ञान प्राफ्त कर सकते है |
एसे बहुत सारे अन गिनत क्षेत्र है,जो लोगों को 5g टेक्नोलॉजी द्वारा बहुत सारे फायदा पहंच सकता है |
5g टेक्नोलॉजी द्वारा connectivity बहुत ही बेहतर रहेगा है |

5g की दौड़ में कौन कौन देश है?

5g की दौड़ में United States,Japan,China और South Korea इन देशों ने 5g network countries में सामिल है |

5g Technology से नुक्सान क्या है?
5g टेक्नोलॉजी को पूर्ण मात्रा में सफल बनाने के लिए फिलहाल अभी भी बहुत सारे researched चल राहा है |

5g टेक्नोलॉजी की connectivity रेंज frequency waves कम दूर की जात्रा करने में सक्षम है |
5g के frequency ठोस पदार्थ जैसे की घर बिल्डिंग,दीवारों,पेड़ों से जाना संभव नहीं है |
5g नेटवर्क की बुनियादी ढांचे के विकाश या फीर मौजूदा cellular की बुनियादी ढांचे को 5g के अनुकूल बनाने के लिए लागत बहुत ज्यादा महेंगी होगी |
5g के high स्पीड connectivity को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक रखरखाव करने के लिए बहुत मात्रा में धन की जरुरत पड़ेगी |
5g infrastructure को बिकशीत करने के लिए बहुत सारे धन-राशी की जरुरत पड़ सकती है |
बहुत सारे पुराने उपकरण जो 5g टेक्नोलॉजी के सक्षम नहीं है,जिस के चलते उन्हें बदलना पडेगा,जो महेंगा साबीत होगा |

FAQ ( अक्सर कुछ पूछे जाने वाले सवाल )

4G और 5G में अंतर क्या है?
4g और 5g में सबसे पहले बड़ा अंतर स्पीड और latency रेहेता है | 4g नेटवर्क peak में 1 Gbps और 5g नेटवर्क peak में 20 Gbps रेहेता है | 4g नेटवर्क में latency 30 ms और 5g नेटवर्क में 1 ms रेहेता है |

4G Handsets को 5g में upgrade किया जा सकता है?
फिल हाल अभीतक पूरी तरह से कोई जानकारी नहीं है |

5G इंटरनेट इंडिया में कब launch होगा?
भारत सरकार ने टेलिकॉम कंपनियों को 5g trail के लिए अनुमति दे दी है,आशा किया जा सकता है,2022 के पहले भाग में 5 g launch हो सकता है |

READ  बॉलीवुड के ये 5 स्टार्स देते हैं Govt को सबसे अधिक Income Tax

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button